कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए वेस्ट टू वंडर पार्क और नंदनवन 31 मार्च तक बंद रहेंगे

महापौर श्रीमती सुनीता कांगड़ा और अध्यक्ष स्थायी समिति श्री भूपेंद्र गुप्ता ने आज जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक कर कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए बचाव उपायों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए वेस्ट टू वंडर पार्क और नंनदवन को 31 मार्च तक के लिए बंद किया जाता है। श्रीमती कांगड़ा ने कहा कि हम स्थिति पर नज़र बनाए हुए हैं और कोरोना वायरस से बचाव के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठा रहे हैं।
उन्होंने बताया कि जनजागरूकता अभियान के अंतर्गत अभी तक 5 लाख पेम्फलेट लोगों को बाँटे गए हैं ताकि लोगोें को इस बारे में शिक्षित किया जा सके। उन्होंने कहा कि वह स्वयं पेम्फलेट बाँटकर लोगों को जागरूक और सतर्क कर रही हैं। उन्होंने जनस्वास्थ्य विभाग और डेम्स विभाग को यह निर्देश दिए कि सफाई कर्मचरियों को हैंड ग्लव्स, सेनेटाइज़र और मास्क उपलब्ध कराने की व्यवस्था करें। श्रीमती कांगड़ा ने यह बताया कि हमारे मेडिकल स्टाफ, जिसमें डाॅक्टर, नर्स व हैल्थ वर्करों को 24 घंटे दिल्ली सरकार के काॅरनटाइन सेंटर पर तैनात किया गया है। महापौर ने बताया कि जनस्वास्थ्य विभाग ने मार्किट एसोसिएशनों को निर्देश दिए हैं कि बाजारों के प्रवेशों पर पोर्टेबल वाशबेसिन लगाएँ, साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि कैफे और रेस्त्रां में भी सेनेटाइज़र रखें जाए।
स्थायी समिति अध्यक्ष श्री भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि महापौर और अन्य विधायी पक्ष के कार्यालयों में जन सुनवाई पर 31 मार्च तक रोक लगा दी गई है और नागरिकों से आग्रह किया गया वे अपनी शिकायतें व सुझाव ई-मेल व व्हट्सेप के माध्यम से हमें दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज उन्होंने स्वयं स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ मिलकर सिविक सेंटर के कार्यालयों को सेनेटाइज़ किया। उन्होंने कहा कि सिविक सेंटर मुख्यालय में लगभग 2000 बाहरी लोग अपने आते हैं। इसलिए साफ-सफाई और सेनिटाइज़ेशन की अत्यंत आवश्यकता है। उन्होंने आगे बताया कि कालकाजी काॅलोनी अस्पताल में 50 बैड की व्यस्था कर काॅरनटाइन की सुविधा उपलब्ध है। इसके अलावा सैक्टर 17, द्वारका के समुदाय भवन में भी यह सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों और डिस्पेंसरियों में आए कोरोना वायरस के संदेहास्पद मरीजों को नियमित रूप से दिल्ली सरकार के अस्पतालों के भेजा जा रहा है।

Share this:
FacebookTwitterGoogle+LinkedInWhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *